‘सखुआ’ एक पहल

आदिवासी महिलाओं की एक नयी पहल है - 'सखुआ' आईआईएमसी की छात्रा रह चुकी मोनिका मारांडी की एक अनूठी पहल है- 'सखुआ'। इसके संचालन का...
309FollowersFollow
691SubscribersSubscribe

लोकप्रिय

समकालीन स्त्री लेखन और मुक्ति का स्वरूप

रेनू दूग्गल भारतीय समाज में स्त्रियों की ऐतिहासिक स्थिति संतोषजनक नहीं रही यद्यपि वैदिक काल में स्त्रियों की सामाजिक स्थिति अत्यन्त उन्नत थी। इस काल...
Loading...