यौनिकता की विश्वसनीय दृश्यता

एल.जे. रूस्सुम/ अनुवाद : डा अनुपमा गुप्ता (एल .जे .रुस्सुम का यह आलेख स्त्रीकाल के प्रिंट एडिशन के लिए भेजा गया था , जिसे हम...

सविता सिंह की कवितायें

( प्रख्यात आलोचक मैनेजर पाण्डेय सविता सिंह की कविताओं के सन्दर्भ में लिखते हैं, ‘ सविता सिंह की कविताओं में गहरा आत्म संघर्ष है और आत्म मंथन...

माया अंजेलो की कवितायें

माया अंजेलो/ अनुवाद : विपिन चौधरी 1. न्यूयार्क में जागरण पर्दे, हवा के खिलाफ अपनी जंग छेड़ रहे हैं, बच्चे परियों से सपनों का आदान-प्रदान करते हुए नींद ले रहे हैं. शहर...

अपर्णा अनेकवर्णा की कवितायें

1. एक ठेठ/ढीठ औरत सुबह से दिन कंधे पे है सवार उम्मीदों की फेरहिस्त थामे इसकी.. उसकी.. अपनी.. सबकी.. ज़रूरतें पूरी हो भी जाएँ.. उम्मीदें पूरी करना बड़ा भारी...

दमदार

सुशीला टाकभौरे ( सुशीला टाकभौरे की यह कहानी दलित स्त्रीवादी कहानी के दायरे में पढी जा सकती है. आज भी सरकारी फाइलों में 'अपराधी जाति'...

जीवन और मृत्यु के बीच अस्तित्व की तलाश

रामजी यादव ( रामजी यादव यहां सुधा अरोडा की कहानियों से गुजरते हुए स्त्री की पीडा , उसके संघर्ष , पितृसत्ता का स्त्री के ऊपर...

अल्पना मिश्र की 5 कवितायें

(अल्पना मिश्र की अधिकांश कहानियां निम्न मध्यमवर्गीय परिवेश की लडकियों /पात्रों की पीडा और संघर्ष की कहानियां होती हैं. आज उनका जन्मदिन है उनके जन्मदिन पर...

हलवा, कपड़े और सियासत

संदीप मील  ( संवादों में गुंथी यह कहानी संदीप मील के कहन की एक अच्छी मिसाल है. यह कहानी बिना अतिरिक्त शोर के स्त्रीवादी कथन के कारण...

* जब अपने संकल्प के साथ एक निर्भ्रान्त जीवन शुरू किया… *

(भारतीय भाषाओं से दलित कवयित्रियों की कवितायें ) अनुवाद और प्रस्तुति  : फारूक शाह  एक काम के दौरान भारतीय दलित स्त्री लेखन का संकलन और उसकी पड़ताल...

साहित्य में स्त्रियों की भागीदारी

जयश्री रॉय ( जय श्री राय हिन्दी कथा साहित्य में एक मह्त्वपूर्ण उपस्थिति हैं. साहित्य में स्त्रियों की भागीदारी जयश्री राय नामक यह आलेख इन्होंने  स्त्रीकाल ,...
269FollowersFollow
691SubscribersSubscribe

लोकप्रिय

‘प्रसाद की रचनाओं में स्त्री स्वर की अभिव्यक्ति’

पूनम प्रसाद जयशंकर प्रसाद आधुनिक हिन्दी साहित्य के गौरान्वित व महान लेखक हैं।जिनके कृतित्व का गौरव अक्षुण है। उनकी प्रतिभा का निरूपण कविता, कहानी, नाटक,...
Loading...