अरुण चंद्र राय की कवितायें

अरुण चंद्र राय अरुण चंद्र राय प्रकाशक हैं. ' ज्योति पर्व' प्रकाशन का संचालन करते हैं. संपर्क  : 9811721147 धान रोपती औरतों का प्यार खेतों के...

अनागत का भविष्य

योगेश गुप्त  योगेश गुप्त की कहानियों के बारे में जैनेंद्र कुमार ने कहा था, "योगेश की कहानियां निश्चय ही हिंदी साहित्य की उपलब्धि हैं...लीक से...

“चकरघिन्नी” : तीन तलाक़ का दु:स्वप्न

नूर जहीर 'डिनायड बाय अल्लाह' और 'अपना खुदा एक औरत' जैसी चर्चित कृतियों की रचनाकार संपर्क : noorzaheer4@gmail.com. कॉमन सिविल कोड और तीन तलाक की बहस...

ग्यारहवीं ‘ए’ के लड़के देश का भविष्य हैं, असली खतरा ग्यारहवीं ‘बी’ की लड़कियां...

जया निगम  सनी लियोनी  और सपना चौधरी हमारे समय के पुरुषों के लिये सपनीली परियां हैं, क्लास और कल्चर की ऊंची-ऊंची दीवारों को लांघते हुए...

जब ‘दुल्हन’ घर छोड़ कर चल देती है…

 असीमा भट्ट ( असीमा भट्ट चेखव की कहानी दुल्हन' की नायिका की तरह पहले तो प्रेम  और विवाह के प्रचलित फ्रेम में स्वप्न देखती और...

रजनी अनुरागी की कवितायें

रजनी अनुरागी रजनी अनुरागी कविता में एक महत्वपूर्ण उपस्थिति हैं . रजनी कविताओं के लिए शीला सिद्धान्तकर सम्मान से भी सम्मानित हैं ....

जिंदगी की ओर लौटते हुए…

जयश्री रॉय जयश्री रॉय कथा साहित्य में एक मह्त्वपूर्ण नाम हैं. चार  कहानी संग्रह , तीन उपन्यास और एक कविता संग्रह प्रकाशित हैं ....
251FollowersFollow
637SubscribersSubscribe

लोकप्रिय

रजनी दिसोदिया की आलोचना पुस्तक का लोकार्पण

इस किताब में सलीके से कही गयी बातों को हमें कक्षाओं में लेकर जाना चाहिए। जाति के मुद्दे को पाठ्यक्रम में न लाना भी एक साज़िश है। लेखिका की दृष्टि दलित या स्त्री विमर्श तक नहीं बल्कि कहीं अधिक व्यापक है। उनकी विनम्र शैली लोगों को जोड़ने का काम करती है। इन लेखों में ताऱीख भी देनी चाहिए जिससे उनकी वैचारिक यात्रा को पाठक समझ सके। यह पुस्तक दलित चेतना को विस्तार देती है।
Loading...