ईरानी महिला खिलाड़ी ने जीता पदक :देश ने दे दिया गिरफ्तारी का आदेश

ईरान की एक महिला मुक्केवाज सदफ खादिम ने शनिवार 14 अप्रैल को फ्रांस में एक अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता जीती और ऐसा करने वाली ईरान की पहली महिला खिलाड़ी बनने का गौरव हासिल किया, बदले में उनके देश ने उनकी गिरफ्तारी का आदेश दे दिया है. यह देश के भीतर की दकियानूस, महिला विरोधी और कट्टर ख्यालातों के कारण उनका अपने प्रिय देशवासियों द्वारा दिया गया तोहफा है.


सदफ खादिम

गिरफ्तारी के कारणों में महिला मुक्केबाज द्वारा बाउट के दौरान सिर न ढकना और शार्ट्स पहनना गैर इस्लामिक बताया गया. कहा गया कि यह पहनावा महिलाओं के पहनावे को लेकर इस्लामिक कानून के खिलाफ है. खादिम पर ईरान में महिलाओें के पहनावे के कानून का उल्लंघन करने का आरोप लगाया गया है. इसके अलावा उनके कोच को भी सह-अपराधी बताया गया है. इसके बाद उन्होंने फ्रांस न छोड़ने का निर्णय लिया है.

सदाफ खादिम ने रोयान के वेस्टर्न टाउन में फ्रांस की 25 वर्षीय खिलाड़ी एन्ने शाविन को हराकर यह मुकाबला जीता. सदाफ खादिम के कोच के पास फ्रेंच और ईरान दोनों देश की नागरिकता है.

कोच माहयर मोंशीपौर को फोन संदेश के जरिए गिरफ्तार करने की धमकी दी गई है. वहीं ईरान के न्यायालय की तरफ से मामले में कोई टिप्पणी नहीं की गई है. जबकि ईरान के बॉक्सिंग फेडरेशन ने मामले में कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया गया है. ईरान बॉक्सिंग फेडरेशन के प्रमुख ने कहा कि खादिम बॉक्सिंग फेडरेशन की सदस्य नहीं हैं. वह जो भी कर रही हैं उनकी निजी गतिविधि है. जबकि खादिम ने कहा कि ‘ क्या अपने देश से मुहब्बत करने की यह सजा है? मैंने अपने देश के राष्ट्रीय चिह्नों का सम्मान किया लेकिन मुझे वहां सजा का ऐलान किया गया है.’

सदफ ने तेहरान की पहाड़ियों पर दो साल तक गहन प्रशिक्षण लिया है. 2017 में किसी काम से ईरान गए ईरानी मूल के पूर्व फ्रांसीसी सुपरबेंटमवेट विश्व चैंपियन माहयर मोंशीपौर की निगाह उन पर पड़ी. उन्होंने सदफ को फ्रांस बुला लिया.