महिला पत्रकार की हत्या: पनामा लीक की खबर से दुनिया भर में पैदा किया था राजनीतिक भूचाल

माल्टा की एक खोजी पत्रकार  17 अक्टूबर को अपनी कार में एक बम विस्फोट से मारी गयी. डेफने कारुआना गैलिज़िया नामक पत्रकार ने लीक पनामा पत्रों के माध्यम से दीप के राष्ट्रों का अपतटीय टैक्स हेवन से संपर्कों को उजागर किया था.

प्रधान मंत्री जोसेफ मस्कट ने कहा, “53 वर्षीय डेफने कारुआना गैलिज़िया, माल्टा के मुख्य द्वीप के एक बड़े शहर मोस्टा में अपने घर से बाहर निकली ही थी कि जब बम विस्फोट हुआ.  विस्फोट काफी तीव्र था, उसने गाडी के परखच्चे उड़ा दिये.’

माल्टा के सबसे प्रसिद्ध खोजी पत्रकार के बेटे ने मंगलवार को कहा था कि उनकी मां राजनीतिक भ्रष्टाचार को उजागर करने के कारण मार दी गयीं. सैकड़ों लोगों ने न्याय मांगने के लिए  प्रदर्शन किया.


माल्टा  के अधिकारियों ने डच फोरेंसिक विशेषज्ञों और अमेरिकन एफबीआई एजेंटों से जांच में मदद माँगी है. मारी गयी पत्रकार के बेटे मैट्यू कारुआना गैलिज़िया ने फेसबुक पर कहा, “मेरी मां को हत्या कर दी गई थी क्योंकि वह एक मजबूत पत्रकार की तरह कानून के शासन और उनके बीच खड़ी थी जो इसका उल्लंघन करते थे।”

मंगलवार की दोपहर, सैकड़ों लोगों ने अदालतों के सामने प्रदर्शन करते हुए मारी गयी पत्रकार के लिए न्याय की मांग की.

हाल ही में, गैलिज़िया ने तथाकथित पनामा पत्रों में दर्ज जानकारी पर तहकीकात कर रही थीं, जो सेंट्रल अमेरिकी राष्ट्र में एक अपतटीय कानून फर्म के दस्तावेजों का एक बड़ा संग्रह है, जो 2015 में लीक हो गए थे. पनामा पत्रों की लीक ने कई देशों में भूचाल ला दिया था. नवाज शरीफ का नाम होने के कारण पाकिस्तान की राजनीति में उथल-पुथल मच गयी तो भारत में अमिताभ बच्चन, ऐश्वर्या राय तक का  नाम पनामा पेपर घोटाले से जुड़ा था.

स्त्रीकाल का प्रिंट और ऑनलाइन प्रकाशन एक नॉन प्रॉफिट प्रक्रम है. यह ‘द मार्जिनलाइज्ड’ नामक सामाजिक संस्था (सोशायटी रजिस्ट्रेशन एक्ट 1860 के तहत रजिस्टर्ड) द्वारा संचालित है. ‘द मार्जिनलाइज्ड’ मूलतः समाज के हाशिये के लिए समर्पित शोध और ट्रेनिंग का कार्य करती है.
आपका आर्थिक सहयोग स्त्रीकाल (प्रिंट, ऑनलाइन और यू ट्यूब) के सुचारू रूप से संचालन में मददगार होगा.
लिंक  पर  जाकर सहयोग करें    :  डोनेशन/ सदस्यता 

‘द मार्जिनलाइज्ड’ के प्रकशन विभाग  द्वारा  प्रकाशित  किताबें  ऑनलाइन  खरीदें :  फ्लिपकार्ट पर भी सारी किताबें  उपलब्ध हैं. ई बुक : दलित स्त्रीवाद 
संपर्क: राजीव सुमन: 9650164016,[email protected]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here