नीतीश कुमार को कौन दे रहा धीमा जहर (!)

संजीव चंदन नीतीश जी उम्मीद है मजे में होंगे, सत्ता मजे में ही रखती है! चाहे लाख बलाएँ आयें, राज्य में बेटियों से राज्य-संरक्षित बलात्कार हो...

किसने फैलाई गरीबों को विदेशी औरत मुहैया कराने की खबर और कौन काट रहा...

विकाश सिंह मौर्य शोधार्थी, इतिहास विभाग, डी.ए.वी.पी.जी. कॉलेज, बी.एच.यू. वाराणसी. संपर्क : vikashasaeem@gmail.com 11 अगस्त 2017 को मैं अपने रिसर्च पेपर के लिए फील्ड वर्क पर चित्रकूट जिले के...

ये लडकियां दे रही राष्ट्रवादी आतंकवादियों को चुनौती

देश हमारे आपका, ये नहीं किसी के बाप का /सरकार हमारी आपकी ये नहीं किसी के बाप की  14 अगस्त,2017  को (NFIW) के एक कार्यक्रम...

‘टच ही तो किया है न और कुछ नहीं किया न’ : प्रशासन के...

विकाश सिंह मौर्य 21 सितम्बर 2017 को बीएचयू के दृश्य कला संकाय में बीएफए की छात्रा अनन्या (बदला हुआ नाम) शाम को लगभग 6.30 बजे...

स्मृति इरानी जी, हमारी दुर्गा आप ही हो !

संजीव चंदन स्मृति इरानी जी,  आपको एक दिन लोकसभा में और दूसरे दिन राज्यसभा में बोलते हुए देखकर  मैं बेहिचक इस निष्कर्ष पर हूँ कि आप...

औरत , विज्ञापन और बाजार

अदिति शर्मा केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण, बैंगलोर पीठ में हिंदी अनुवादक संपर्क-ई-मेल : aditisharmamystery@gmail.com अदिति शर्मा स्त्री  मुक्ति चेतना व स्त्रीवादी दृष्टिकोण पर बहुत कुछ लिखा जा...

क्या ‘महिलायें’ सिर्फ़ ‘पुरुषों’ की जरुरत की वस्तु हैं ??

हिमांशु यादव जर्मन अध्ययन केंद्र ,गुजरात केंद्रीय विश्वविद्यालय में शोधरत है. संपर्क :9998780243, 9104676458 Email : yadavhimanshu2642@gmail.com यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते रमन्ते तत्र देवताः। हमारे देश में यह...

सांस्थानिक हत्या की सनातन परम्परा: शंबूक से लेकर डा.पायल तक

वहॉं से तो तथाकथित सभ्य समाज तक की यात्रा और भी कठिन, दुरुह रही होगी। मेडिकल कॉलेज में सामान्य कॉलेज की तरह आपके पास अपनी जाति को छुपाने का कोई रास्ता नहीं होता। यहॉं जातियॉं जग - ज़ाहिर होती हैं। और इलीट वर्ग के हाथों में जैसे हथियार आ जाता है। इनकी ज़ुबान फ़ोरसिप (सडसी/चिमटा) की तरह हो जाती हैं।

बेटियों का नाम अनचाही, फालतू…. (बदलाव के दौर में रूढ़िवादी मानसिकता की शिकार...

मुजतबा मन्नान हाल ही में एक खबर अखबारों की सुर्खियां बनी।दरअसल, मध्य प्रदेश के मंदसौर जिला मुख्यालय से करीब पैंतीस किलोमीटर दूर बिल्लौद गाँव में...

ईरानी महिला खिलाड़ी ने जीता पदक :देश ने दे दिया गिरफ्तारी का आदेश

सदाफ खादिम ने रोयान के वेस्टर्न टाउन में फ्रांस की 25 वर्षीय खिलाड़ी एन्ने शाविन को हराकर यह मुकाबला जीता. सदाफ खादिम के कोच के पास फ्रेंच और ईरान दोनों देश की नागरिकता है.

लोकप्रिय

कुछ अल्पविराम

लेडी श्रवण कुमार-भारतीय समाज की इस विडंबना की ओर संकेत किया है जहां पुरूष कोई कार्य करता है तो उसे समाज उसकी सराहना करता है। श्रवण कुमार की सेवा भक्ति का जिक्र हर एक की जुबान पर मिलता है। मगर हमारे देश में महिलाएं सेवाकर्म बरसों से करती आ रहीं हैं। मगर घर-परिवार हो या समाज सबने उसके योगदान को नजरअंदाज किया है।