‘अन्तरजातीय विवाह से ही सामाजिक विषमता खत्म होगी’

प्रियंका सोनकर  प्रियंका सोनकर  असिस्टेन्ट प्रोफेसर दौलत राम कॉलेज, दिल्ली विश्वविद्यालय. priyankasonkar@yahoo.co.in जब देश में जातिवादी हमले आम हो जायें, जब एक विचारशील मनुष्य भी अपने...

पितृसत्तात्मक दृष्टिकोण और स्त्री की आजादी विशेष संदर्भ-मैत्रेयी की कहानी “पगला गयी है भागवती”

आदित्य कुमार गिरि शोधार्थी,कलकत्ता विश्वविद्यालय,ईमेल आईडी-adityakumargiri@gmail.com पुंसवादी समाज ने एक ऐसी व्यवस्था बनाई है जिसके तहत स्त्रियों को दूसरे दर्जे का प्राणी मान लिया...

आधी आबादी का डर

मुजतबा मन्नान हाल ही में महिलाओं के साथ हुई कुछ बेहद दुखद हिंसात्मक घटनाएँ टीवी चैनलों व अखबारों की सुर्खियां बनी.पहली घटना में राजधानी दिल्ली...

बिहार और जातिवाद का इतिहास ‘दिनकर’ की कलम से:

डॉ.रतन लाल एसोसिएट प्रोफेसर इतिहास विभाग हिन्दू कॉलेज दिल्ली विश्वविद्यालय संपर्क : lalratan72@gmail.com. भारत में जब चुनाव या किसी अन्य गतिविधि की चर्चा होती है तब निःसंदेह जातिवाद की...

1990 के बाद का हिंदी समाज और अद्विज हिंदी लेखन

प्रमोद रंजन  संपादक,फारवर्ड प्रेस. बहुजन साहित्य की अवधारणा सहित चार अन्य किताबें प्रकाशित. ईमेल आईडी janvikalp@gmail.com 1990 का दशक वैश्विक परिदृश्य अनेक सकारात्मक-नकारात्मक परिवर्तनों...

हिन्दी साहित्य में अस्मितामूलक विमर्श विशेष संदर्भःस्त्री अस्मिता

अजय कुमार यादव अजय कुमार यादव, शोधर्थी , जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, नई दिल्ली . संपर्क :ajjujnu@gmail.com Mobile no.8882273975 पिछले कुछ दशकों में विचारधारा और चिन्तन की...

देश के मर्दों एक होओ

अरविंद जैन स्त्री पर यौन हिंसा और न्यायालयों एवम समाज की पुरुषवादी दृष्टि पर ऐडवोकेट अरविंद जैन ने मह्त्वपूर्ण काम किये हैं. उनकी किताब...

जाति पर डाका : हिंदी साहित्य में जातिविमर्श

नीरा परमार  कविता, कहानी और शोध -आलोचना के क्षेत्र में योगदान. एक कविता और कहानी संग्रह प्रकाशित . संपर्क : parmarn08@gmail.com पढें और समझें...

पेंटिंग में माँ को खोजते फ़िदा हुसेन

डा. शाहेद पाशा  मकबूल फ़िदा हुसेन ने अपनी कलाकृतियों में स्त्री को दर्शाते हुए न जाने कितने ही ऐसे चहरों को रंगा है, जिसकी दुनियाँ...

यौन हिंसा और न्याय की मर्दवादी भाषा:- आख़िरी क़िस्त

अरविंद जैन स्त्री पर यौन हिंसा और न्यायालयों एवम समाज की पुरुषवादी दृष्टि पर ऐडवोकेट अरविंद जैन ने मह्त्वपूर्ण काम किये हैं. उनकी किताब...
309FollowersFollow
691SubscribersSubscribe

लोकप्रिय

‘प्रसाद की रचनाओं में स्त्री स्वर की अभिव्यक्ति’

पूनम प्रसाद जयशंकर प्रसाद आधुनिक हिन्दी साहित्य के गौरान्वित व महान लेखक हैं।जिनके कृतित्व का गौरव अक्षुण है। उनकी प्रतिभा का निरूपण कविता, कहानी, नाटक,...
Loading...