‘दिल्ली की नागरिक’ जिसने 15 सालों में दिल्ली को बदल दिया

एक संयोग यह भी है कि जिस इलाक़े में शीला दीक्षित रहती थीं वह निज़ामुद्दीन नाम से दिल्ली में पहचाना जाता है. निज़ामुद्दीन औलिया की दरगाह पर बहुत से लोग हर रोज़ अपनी मिन्नतों को माथा टेकने को कहते हैं और कुछ उनकी दरगाह को मिन्नतों के पुरी होने पर ख़ुशी से चूमने आते हैं. लेकिन यह बात भी दीगर है कि शाहजहाँ की बड़ी बेटी और मुग़ल शहजादी, पादशाह बेग़म जहाँआरा, निज़ामुद्दीन की दरगाह के अंदर ही आराम फरमा रही हैं.

बेटियों का सवाल राज्य, मीडिया और सिविल सोसायटी से

ज्योति प्रसाद  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अपने मंत्री का अभी भी बेशर्म बचाव करते चुनाव के लिए लव-कुश (कुर्मी-कुशवाहा) समीकरण साधने में लगे हैं. कॉल डिटेल्स...

पहली महिला राष्ट्रपति नहीं सेक्सिस्ट राष्ट्रपति: अमेरिकी जनादेश

दुनिया के सबसे ताकतवर माने जाने वाले मुल्क ने अपना राष्ट्रपति चुन लिया है और इस तरह विवादों में रहने वाला, महिलाओं को देह...

व्यावसायिक जोखिम का लैंगिक विमर्श

2010 में मैंने सुप्रीम कोर्ट में सूचना अधिकार के एक आवेदन किया था और टाल मटोल के बाद पता चला कि वहां यौन उत्पीडन...

यह सफर आजादी का है

वर्षा सिंह   आईएमएस गजियाबाद कॉलेज में असिस्टेंट प्रोफेसर। 13 वर्षों तक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में कार्य-अनुभव. संपर्क :bareesh@gmail.com महिलाओं के खिलाफ हिंसा से जुड़ी...

मंत्री के पति का उछला नाम तो हाई कोर्ट में सरेंडर बिहार सरकार: सीबीआई...

संतोष कुमार मुजफ्फरपुर बालिका-गृह में बच्चियों से बलात्कार मामले में बिहार सरकार में सामाजिक कल्याण मंत्री मंजू वर्मा के पति का नाम सामने आ जाने...

कौन काट रहा उनकी चोटियाँ: एक तथ्यपरक पड़ताल

रजनीतिलक  आजकल एक खबर ने पूरे देश में दहशत फैला दी है वह है रात के समय सोती हुई महिलाओं की उनके ही घर में...

रक्षा मंत्रालय ने लिया संज्ञान: सेना के अफसर द्वारा एक लड़की को तेज़ाब फेकने...

स्त्रीकाल डेस्क  रक्षा मंत्रालय ने सेना के एक अफसर के खिलाफ जांच की कार्रवाई शुरू कर दी है. पिछले दिनों मुम्बई में एक पेस्टिसाइड कंपनी...

कार्बाइड का कलंक : औरतों की आपबीतियां

स्वाति तिवारी लेखन की कई विधाओं में सक्रिय स्वाति तिवारी मध्यप्रदेश सरकार की एक अधिकारी हैं.   संपर्क : stswatitiwari@gmail.com  ( ३० साल हो गए...

कार्ल मार्क्स का प्रेम पत्र (जेनी के नाम)

दुनिया के इतिहास, अर्थव्यवस्था, समाज, राजनीति को समझने के, दुनिया को समझने के भौतिकवादी चिंतन में से एक महान चिंतन कार्ल मार्क्स का है....
249FollowersFollow
606SubscribersSubscribe

लोकप्रिय

कुछ अल्पविराम

लेडी श्रवण कुमार-भारतीय समाज की इस विडंबना की ओर संकेत किया है जहां पुरूष कोई कार्य करता है तो उसे समाज उसकी सराहना करता है। श्रवण कुमार की सेवा भक्ति का जिक्र हर एक की जुबान पर मिलता है। मगर हमारे देश में महिलाएं सेवाकर्म बरसों से करती आ रहीं हैं। मगर घर-परिवार हो या समाज सबने उसके योगदान को नजरअंदाज किया है।